केरल की सैर

1264

पार्टनर के साथ रोमांटिक पल या फिर फ्रेंड्स के साथ एडवेंचर स्पोर्ट्स या फिर फैमिली के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड |

केरल भारत का एक प्रान्त है। इसकी राजधानी तिरुवनन्तपुरम (त्रिवेन्द्रम) मलयालम यहां की मुख्य भाषा है। हिन्दुओं तथा मुसलमानों के अलावा यहां ईसाई भी बड़ी संख्या में रहते हैं। भारत की दक्षिण-पश्चिमी सीमा पर अरब सागर और सह्याद्रि पर्वत श्रृंखलाओं के मध्य एक खूबसूरत भूभाग स्थित है, जिसे केरल के नाम से जाना जाता है।केरल प्रांत पर्यटकों में बेहद लोकप्रिय है, इसीलिए इसे ‘God’s Own Country’ अर्थात् ‘ईश्वर का अपना घर’ नाम से पुकारा जाता है। यहाँ अनेक प्रकार के दर्शनीय स्थल हैं, जिनमें प्रमुख हैं – पर्वतीय तराइयाँ, समुद्र तटीय क्षेत्र, अरण्य क्षेत्र, तीर्थाटन केन्द्र आदि। इन स्थानों पर देश-विदेश से असंख्य पर्यटक भ्रमणार्थ आते हैं। मून्नार, नेल्लियांपति, पोन्मुटि आदि पर्वतीय क्षेत्र, कोवलम, वर्कला, चेरायि आदि समुद्र तट, पेरियार, इरविकुळम आदि वन्य पशु केन्द्र, कोल्लम, अलप्पुष़ा, कोट्टयम, एरणाकुळम आदि झील प्रधान क्षेत्र आदि पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण केन्द्र हैं। भारतीय चिकित्सा पद्धति – आयुर्वेद का भी पर्यटन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान है। राज्य की आर्थिक व्यवस्था में भी पर्यटन ने निर्णयात्मक भूमिका निभाई है।

जून का महीना और चिलचिलाती गर्मी, हर कोई इस गर्मी से कुछ दिन दूर रहने के लिए ठंडी जगहों के सैर-सपाटे के लिए प्लानिंग करने में लगा हुआ है। अगर आपने अब तक समर ट्रिप प्लान नहीं की हैं, तो इस समर सीजन में दक्षिणभारत के केरल की सैर का प्लान बना डालिए। नदियों, खूबसूरत पहाड़, झीलों, झरने और ग्रीनरी के लिए फेमस केरल में आप अपनी गर्मी की छुट्टियां बिता सकते हैं। यहां पर आप वॉटर स्पोर्ट्स, वाइल्ड लाइफ, बीच आदि का भी भरपूर मजा ले सकते हैं।