मलयाली लेखक एस हरीश को 2020 का जेसीबी पुरस्कार देने की घोषणा की गई !!!

196

लेखक एस हरीश की पुस्तक ‘मस्टैश’ को 25 लाख रुपये का जेसीबी साहित्य पुरस्कार देने की घोषणा की गई।

इस पुस्तक को जयश्री कलातिल ने मलयाली से अंग्रेजी में अनुवाद किया है। हरीश का यह पहला उपन्यास है जो मिथक, जादू और कल्पनाशीलता का सम्मिश्रण है। पुस्तक को चार सदस्यों वाले निर्णायक मंडल द्वारा पुरस्कार के लिए चुना गया। निर्णायक मंडल में लेखक और अनुवादक आरुणि कश्यप, लेखक तेजस्विनी निरंजना, नाटककार और निर्देशक रामू रामनाथन तथा टाटा न्यास में कला और संस्कृति की अध्यक्ष दीपिका सोराबजी शामिल थे।

निर्णायक मंडल की अध्यक्ष निरंजना ने कहा, ‘मस्टैश, भारतीय कथा साहित्य की एक उत्कृष्ट कृति है जिसे मलयाली भाषा के एक सम्मानित लेखक ने लिखा है और अब उनका कार्य अंग्रेजी में अनूदित हुआ है। हरीश ने इस पठनीय कहानी में कुट्टनाड क्षेत्र के जातीय और लिंग आधारित समीकरणों का गहराई से विश्लेषण किया है।’ कश्यप ने कहा कि पुस्तक की विषयवस्तु अचंभित करती है और यह बेहद मौलिक है।

Image source : google