धर्मार्थ संस्थाओं ने ब्रिटेन में बच्चों को भोजन मुहैया कराने के लिए भारतीय रसोई का मॉडल अपनाया !!!

192

गरीब बच्चों के लिये स्थापित एक भारतीय धर्मार्थ संस्था की ब्रिटिश शाखा ने ब्रिटेन में बच्चों की भूख के वहनीय और संभव समाधान के तौर पर भारत में जांचे-परखे अत्याधुनिक रसोई के मॉडल को अपनाया है।

अक्षय पात्र फाउंडेशन यूके ने इंग्लैंड में मध्यावधि विद्यालय अवकाश की अवधि के दौरान जरुरतमंद बच्चों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने के लिये जीएमएसपी फाउंडेशन से हाथ मिलाया है। इस महीने शुरू हुई नयी जीएमएसपी अक्षय पात्र रसोई लंदन में कम लागत में हजारों बच्चों को पोषण वाला भोजन उपलब्ध कराएगी। जीएमएसपी अक्षय पात्र रसोई के तहत ब्रिटेन में प्रत्येक भोजन पर भारत में भी एक बच्चे का भोजन प्रायोजित किया जाएगा।

‘गॉड माई साइलेंट पार्टनर’ (जीएमएसपी) के संस्थापक रमेश सचदेव ने कहा, ‘हमने देखा कि अक्षय पात्र फाउंडेशन ने किस पैमाने पर तेजी के साथ भारत में स्कूली बच्चों को पोषणयुक्त भोजन उपलब्ध कराया। हम जानते हैं कि बढ़ती भोजन असमानताओं से निपटने के लिये ब्रिटेन को अभी इसी की जरूरत है।’ इस पारिवारिक फाउंडेशन का गठन ब्रिटेन और भारत में जरूरतमंद लोगों की मदद के उद्देश्य से किया गया था।

Image source : google