दिल्ली जलबोर्ड में भ्रष्टाचार की कीमत लोगों को चुकानी पड़ रही है : दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता

137

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि बिजली हाफ, पानी माफ के वादे पर वोट बटोरने वाले अरविंद केजरीवाल ने सत्ता में आते ही लोगों को स्वच्छ पानी की बूंद-बूंद के लिए मोहताज कर दिया और जिसे पानी दे रहे हैं उससे हर बूंद की कीमत वसूल रहे हैं।

अब दिल्ली जल बोर्ड ने पानी और सीवर के लिए अलग-अलग इन्फ्रास्ट्रक्चर चार्ज भी लेना शुरू कर के दिल्लीवासियों पर एक नया आर्थिक बोझ डाल दिया है। उन्होंने कहा कि सत्ता में आते ही गिरगिट से ज्यादा रंग मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बदला, जिसे देख कर आज दिल्लीवासी भी हैरान हैं।

प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड के अधिकतर घरेलू उपभोक्ता हैं, ऐसे में अब अलग-अलग इन्फ्रास्ट्रक्चर चार्ज लगने के फैसले के बाद उपभोक्ता परेशान हैं। 2 साल पहले दिल्ली जल बोर्ड ने पानी की दरों में 20 प्रतिशत इजाफा कर के दिल्ली के लोगों से वसूले पैसे को प्रचार पर खर्च कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड जिसके मुखिया स्वंय केजरीवाल हैं, उनके संरक्षण में टैंकर घोटाले सामने आ रहे हैं, पानी माफिया पानी बेच रहे हैं और केजरीवाल के भ्रष्टाचार की कीमत लोगों को चुकानी पड़ रही है। पहले जल बोर्ड के पास 350 करोड़ रुपए का फिक्स डिपाजिट था और 64 करोड़ रुपए प्रति माह के फायदे में था लेकिन आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही प्रतिमाह 100 करोड़ रुपए के घाटे में चल रहा है।

आदेश गुप्ता ने बताया कि जल बोर्ड में टैंकर लगवाने के नाम पर 60 लाख रुपए प्रतिमाह की वसूली करने वाले आम आदमी पार्टी विधायक प्रकाश जरवाल जेल में है और कई ऐसे मंत्री-विधायक हैं जो जल बोर्ड के भ्रष्टाचार में अहम भूमिका निभा रहे हैं। केजरीवाल को इसकी पूरी जानकारी है, लेकिन कार्रवाई करने की बजाय वह इस आपराधिक गतिविधियों को बढ़ावा दे रहे हैं। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बहुत ही मासूम से बच्चे राघव चड्ढा को खुली छूट दे रखी है दिल्ली वासियों को लूटने की, जिसका ताजा उदाहरण है पानी और सीवर के लिए अलग-अलग इन्फ्रास्ट्रक्चर चार्ज। उन्होंने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड में 25,000 करोड़ रूपए के घोटाला की कमी पूर्ति के अब मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली वासियों से पैसा वसूलने की पूरी व्यवस्था की है। दिल्ली को पानी-बिजली के नाम पर ठगने वाले केजरीवाल में थोड़ी भी नैतिकता बाकी नहीं रही कि वह अपने मंत्री-विधायक की जेबें भरने की बयाज दिल्ली वासियों के हितों में भी काम करें। केजरीवाल सिर्फ जनता को धोखा ही नहीं दे रहे हैं बल्कि मुख्यमंत्री के संवैधानिक पद का भी अपमान कर रहे हैं। अपने किए गए वादों को पूरा करने में असफल मुख्यमंत्री केजरीवाल इस्तीफा दे।

Image source : google